BCCI के लिए सोने की खान है IPL, स्पॉन्सरशिप, ब्रॉडकास्टिंग के अलावा इस तरह भी होती है कमाई

 नई दिल्ली: कोरोना वायरस के बीच आईपीएल का 13वां सीज़न इस साल UAE में खेला जा रहा है. इस साल आईपीएल करीब 6 महीने की देरी से खेला जा रहा है. एक रिपोर्ट में बताया गया है कि इस साल अगर आईपीएल ना होता ता बीसीसीआई (BCCI) को हज़ारों करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ता. अब हर किसी के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर बीसीसीआई किस तरह इस टूर्नामेंट से हज़ारों करोड़ों रुपये की कमाई करता है. तो आइए हम आपको बताते हैं कि किस तरह से आईपीएल में बीसीसीआई को कमाई होती है. 



स्पॉन्सर
एक जानकारी के मुताबिक आईपीएल में करीब 60 फीसद कमाई स्पॉन्सर से होती है. स्पॉन्सर भी कई तरह के होते हैं. जैसे- टाइटल स्पॉन्सर, मैन ऑफ दि मैच स्पॉन्सर के अलावा भी मैच की अहम बातों के ध्यान में रखते हुए स्पॉन्सर तय किए जाते हैं. जिनसे बीसीसीआई को मोटी कमाई होती है. 

यह भी पढ़ें-CSK vs RR: पीयूष चावला के नाम दर्ज हुआ ये अनचाहा रिकॉर्ड

इस साल आईपीएल का टाइटल स्पॉन्सर Dream 11 है. इससे पहले आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सर Vivo था. जिसने सबसे पहले साल 2016-17 की टाइटल स्पॉन्सरशिप के लिए बीसीसीआई को 400 करोड़ रुपये अदा किए थे. इसके बाद वीवो ने साल 2017 से 2022 तक टाइटल स्पॉन्सर बनने के लिए बीसीसीआई को 2200 करोड़ रुपये चुकाने का फैसला किया. हालांकि हिंदुस्तानी चीन कशीदगी के चलते बीसीसीआई को Vivo के साथ यह करार तोड़ना पड़ा.

ब्रॉडकास्टिंग 
आईपीएल में कमाई का एक बहुत बड़ा ज़रिए हा ब्रॉडकास्टिंग राइट. जिसका सीधा मतलब यह है कि आईपीएल मैचों की टीवी चैनल पर टैलीकास्ट करने वाले चैनल को भी भारी रकम अदा करना पड़ती है. साल 2008 में आईपीएल का पहला सीजन खेला गया था. उस वक्त सोनी एंटरटेनमेंट ने आईपीएल के ब्रॉडकास्टिंग राइट खरीदे और 2017 तक इसी ग्रुप के पास आईपीएल के ब्रॉडकास्टिंग राइट थे लेकिन साल 2017 के बाद ये राइट्स स्टार स्पोर्ट्स ने खरीद लिए थे. स्टार स्पोर्ट्स ने यह राइट्स पांच सालों के लिए 16 हज़ार 300 करोड़ रुपये में खरीदे थे. 

इसके अलावा बीसीसाआई बैरूने मुल्क (विदेशों) में टेलीकास्ट के राइट्स अलग से बेचते हैं. 

फ्रेंचाइज़ी
फ्रेंचाइज़ी मतल आईपीएल में खलने वाली टीमें होती हैं. आईपीएल में 8 टीमें हिस्सा लेती हैं. इन टीमों के आईपीएल की फ्रेंचाइज़ी बनने के लिए भी अच्छा खासी रकम अदा करनी पड़ती है. 

टिकट
हिंदुस्तान में क्रिकेट एक मज़हब की तरह माना जाता है. यहां फैंस मैच देखने इस दौरान स्टेडियम जाते हैं. इस दौरान कुछ फैंस आम तो कुछ मंहगे टिकट खरीदते हैं. टिकटों के ज़रिए आईपीएल में जमकर कमाई की जाती है.

Source Link